Prakash Prajapati
Web Graphic Designer

Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipisicing elit, sed do eiusmod tempor incididunt ut labore et.

Our Patners

लॉटरी निकलने का लालच देकर ठगी की वारदात को अंजाम देने वाले दो आरोपी गिरफ्तार

  karnal           2022-08-08 23:10:37          16


करनाल  साइबर अपराध थाना करनाल की टीम ने दो ऐसे आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जो आधार कार्ड के नम्बर पर लॉटरी निकलने का लालच देकर लोगों के साथ लाखों रूह्रये की धोखाधडी की वारदात को अंजाम देते हैं। ऐसी ही एक वारदात के संबंध में एक शिकायतकर्ता प्रवीन कुमार वासी शिव कालोनी करनाल ने साइबर अपराध थाना में एक शिकायत दी। जिसमें उसने बताया कि वह पानीपत में स्थित पंजाब नेशनल बैंक में काम करता है। उसने बताया कि उसके मोबाइल फोन पर एक कॉल आई। जब उसने फोन उठाया तो फोन कर रही महिला ने अपना नाम पूजा शर्मा बताया और अपने आप को भारत सरकार के आधार कार्ड विभाग की अधिकारी बताया।

जिसने शिकायतकर्ता को कहा कि उसके आधार कार्ड पर 12 लाख रूह्रये का ईनाम निकला है, जिनको आप कुछ औपचारिकताएं पूरी करके अपने खाते में प्राप्त कर सकते हैं। उक्त महिला ने प्रवीन कुमार को विश्वास दिलाने के लिए उसके पास अपनी पहचान आईडी व एग्रीमैन्ट लेटर भी भेज दिया। प्रवीन कुमार इसकी बातों में आ गया और अपने निजी दस्तावेज आरोपी के मोबाइल पर भेज दिए। जिसके बाद प्रवीन कुमार के पास अलग-अलग नम्बरों से विभिन्न व्यक्तियों के फोन आने लगे और शिकायतकर्ता को औपचारिकताएं पूरी करने के नाम पर उनके खाते में रूह्रये जमा कराने की बात करने लगे। जिसके बाद शिकायतकर्ता ने अलग-अलग समय पर अलग-अलग माध्यमों से आरोपियों द्वारा दिए गए बैंक खातों में कुल 1,29,400 रूह्रये जमा करा दिए थे। परंतु जब आरोपियों ने उसकी लॉटरी के पैसे उसे नही दिए तो उसे अपने साथ हुई धोखाधडी का पता लगा। जिसके बाद आरोपियों द्वारा आधार कार्ड विभाग का फर्जी अधिकारी बनकर लॉटरी निकलने का लालच देने, शिकायतकर्ता के आधार कार्ड, पैन कार्ड व बैंक खाता संबंधी कागजात लेने व 1,29,400 रूह्रये की धोखाधडी करने के अपराध में थाना साइबर अपराध करनाल में मुकदमा धारा 419, 420, 467, 468, 471, 120बी आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया गया।  मामले में प्रभावी कार्यवाही करते हुए एएसआई रविन्द्र कुमार साइबर अपराध की अध्यक्षता में टीम ने दो आरोपियों सतेन्द्र कुमार वासी गांव धमारेही जिला जालोन उत्तर प्रदेश हाल मक्कनपुर न्यायाखण्ड-2 इन्द्रापुर गाजियाबाद उत्तर प्रदेश व बालकिशन उर्फ बीरू वासी जटोलिया सिकंदरपुर जिला बस्ती उत्तर प्रदेश हाल छिजारसी कालोनी सेक्टर-63 नोएडा उत्तर प्रदेश को करनाल से विश्वसनीय साक्ष्यों के आधार पर गिरफ्तार किया। आरोपियों को 1 अगस्त को अदालत में पेश करके चार दिन के रिमाण्ड पर लिया था। रिमाण्ड में आरोपियों से पूछताछ व अन्य विश्वसनीय साक्ष्यों के आधार पर जांच में खुलासा हुआ कि जो लोग विभिन्न ऐपलिकेशन्स के माध्यम से ऑनलाईन लोन के लिए अह्रलाई करते हैं, आरोपी इन ऐपलिकेशन्स से ऐसे लोगों का डाटा प्राप्त करके उनके मोबाइल नम्बरों पर व मोबाइल नम्बरों पर रेंडमली कॉल करके फर्जी अधिकारी बनकर सम्पर्क करते हैं। आरोपी लोगों को उनकी लॉटरी निकलने का लालच देते हैं और उनको विश्वास में लेकर उनके डॉक्यूमेंट प्राप्त कर लेते हैं और जल्द ही उनके खाते में लॉटरी की रकम ट्रांसफर करने की बात करते हैं। इसके बाद आरोपी लोगों को कुछ औपचारिकताएं पूरी करने के लिए उनसे रूह्रयों की डिमांण्ड करते हैं और अलग-अलग खातों में वह उन पैसों को जमा करवाते हैं। जब लोगों को अपनी लॉटरी की रकम नही मिलती तो उन्हें अपने साथ हुई धोखाधडी का खुलासा होता है।

 जांच में यह भी खुलासा हुआ कि आरोपी वॉयस चेंजर ऐपलिकेशन्स के माध्यम से आवाज बदलकर लडकियों की आवाज में लोगों से बात करते थे ताकि लोगों को उन पर जल्दी विश्वास हो जाए। आरोपी लोन देने वाली एह्रलीकेशन्स से प्राप्त डाटा जैसे- लोगों के आधार कार्ड, पैन कार्ड व अन्य जरूरी दस्तावेजों के माध्यम से उन लोगों के नाम से फर्जी डिजीटल बैंक खाते खोलते हैं और लोगों के साथ धोखाधडी करने के लिए इन खातों का इस्तेमाल करते हैं। आरोपियों ने खुलासा किया कि वह पिछले करीब दो साल से ऐसी वारदातों को अंजाम दे रहे हैं और काफी लोगों के साथ लाखों रूह्रये की धोखाधडी कर चुके हैं। जांच में यह भी खुलासा हुआ कि आरोपी बालकिशन के खिलाफ पहले भी एक मामला इसी प्रकार की वारदात को अंजाम देने के अपराध में नाएडा उत्तर प्रदेश में दर्ज है। आरोपियों के कब्जे से 69,000 रूह्रये की नगदी, दो मोबाइल फोन व एक लैपटॉप बरामद किया है। आरोपियों को आज पेश अदालत किया जाएगा।
फोटो कैह्रशन:4


Share on Facebook Share On Whatsapp Telegram